Shayari

Glance through our Shayari Section and find the perfect Shayari to share on your social media account or to dedicate it to your near and dear ones. We have a wide range of heart touching Shayaris that are true to one’s feelings or emotions.

Latest Shayari

Narazagi Kabhi Vha Mat Rkhiyega

नाराजगी कभी वहाँ मत रखियेगा जहाँ, आपको ही बताना पड़े की आप नाराज हो

Vote This Post DownVote This Post Up +1
Category: Narazagi Shayari

Meri Fitrat Mein Nahi Hai Kisi Se Naraz Hona

मेरी फितरत में नहीं हैं किसी से नाराज होना, नाराज वो होतें हैं
जिन्हें अपने आप पर गुरूर होता है।

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Ek Narazagi Si Hai Zehan Mein Zarur Par Mein Khafa Nahi Kisi Se Bhi

एक नाराज़गी सी है जहन में जरुर, पर मैं खफ़ा किसी से नहीं।

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Khamoshiyan Hi Behtar Hai

खामोशियां ही बेहतर हैं, शब्दों से लोग नाराज़ बहुत हुआ करते हैं।

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Narazagi Unse Bhale Beshumaar Rethi Hai

नाराजगी उनसे भले बेशुमार रहती है, पर उन्हें देखने की चाहत बरकरार रहती हैं।

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Teri Baat Ko Khamoshi Se Maan Lena Yeh Bhi Andaaz Hai Meri Narazagi ka

तेरी बात को
खामोशी से मान
लेना,
ये भी अंदाज है
मेरी नाराज़गी
का।

Vote This Post DownVote This Post Up +1
Category: Narazagi Shayari

Jab Narazagi Kisi Khaas Se Hoti Hai Tab Insaan Chilaata Nahi Ro Deta Hai

जब नाराजगी
किसी ख़ास से होती है, तब इन्सान चिल्लाता नहीं रो देता है !!

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Uncategorized

Teri Narazagi Vajib Hai Ee Dost Mei Bhi Khud Se Khush Nahi Aajkal

तेरी नाराजगी
वाजिब है ए दोस्त, मैं भी खुद से खुश नहीं आजकल !!

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Meri Narazagi Ko Meri Bewafayi Mat Samjhna

मेरी नाराज़गी को
मेरी बेवफ़ाई मत
समझना,
नाराज़ भी उसी से
होते है जिससे
बेइंतिहा मोहब्बत
हो।

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Narazagi Chahe Kitni Bhi Ho Tumhe Chod Dene Ka Khayaal Hum Aaj Bhi Nahi Rakhte

नाराज़गी चाहे कितनी भी हो तुम्हें छोड़ देने का ख्याल हम आज भी नहीं रखते…!

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Teri Narazagi Meri Deewangi

तेरी नाराज़गी, मेरी दीवानगी, चल देखें किसकी उम्र ज्यादा है।

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Yeh Kesi Mohabbat ka Aagaaz Kar Rahe Ho

ये कैसी मोहब्बत का आगाज़ कर रहे हो, शुरू हुई नहीं और, पहले ही हमे नाराज कर रहे हो.

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Chand Ke Bina Chandni Adhuri Hoti Hai

चाँद के बिना चाँदनी अधूरी होती है, नाराज़गी ना हो तो मोहब्बत अधूरी होती है.

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Tumhari Har Adda Hai Sabse Nayari

तुम्हारी हर अदा है सबसे नियारी जब रूठ जाती हो तुम तो लगती हो बहुत प्यारी

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Narazagi Ho To Jtaa Lena Lekin Nafarat Na Karna

नाराज़गी हो तो जता लेना, लेकिन नफ़रत न करना, चाहत किसी और हो जाएं तो बता देना, बस बेवफाई न करना।

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Zindagi Ki Rihayi Se Nahi Tumhari Narazagi Se Dar Lagta Hai

जिंदगी की रिहाई से नहीं, तुम्हारी नाराज़गी से डर लगता है

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Narazagi Shayari

Jhuki Jhuki Nazar Teri Kamaal Kar Jati Hai

झुकी झुकी नजर
तेरी कमाल कर जाती है, उठती है एक बार और सौ सवाल कर जाती है !!

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Nazar Shayari

Oo Aankh Chura Ke Jane Vale Hum Bhi The Kabhi Teri Nazron Mein

ओ आँख चुरा के जाने वाले, हम भी थे कभी तेरी नज़रों में !!

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Nazar Shayari

Har Nazar Mein Mumkin Nahi Hai Ve

हर नजर में मुमकिन नहीं है बे- गुनाह रहना, वादा ये करें कि खुद की नजर में बेदाग रहें।

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Nazar Shayari

Nazar Ne Nazar Se Mulakaat Karli

नज़र ने नज़र से
मुलाकात कर ली रहे दूर दोनों मगर बात कर ली,

Vote This Post DownVote This Post Up 0
Category: Nazar Shayari