Sheesha Rahe Bagal Main


शीशा रहे बग़ल में जाम -ए -शराब लब पर,
साक़ी यही मज़ा है दो दिन की ज़िन्दगी में

Leave a comment