Search

Puchne Ki Mohlat

Vote This Post DownVote This Post Up +2

पूछने की मोहलत ही ना दी उन्होने,
लहज़ा बदलता गया और हम अजनबी हो गये

Puchne Ki Mohlat

Category: Shayari About Ajnabi

More Entries

Leave a comment