Jaruri Toh Nahi


ज़रूरी तो नही की मोहब्बत को लफ़्ज़ों में बया करू, इधर देखो क्या मेरी आँखें तुम से कुछ नही कहती

Leave a comment