Announcement

Collapse
No announcement yet.

आंसू

Collapse
X
  • Filter
  • Time
  • Show
Clear All
new posts

  • आंसू

    छोड़ मेरे नादान दिल अब,
    फिर हो के आबाद क्या करना हैं,

    जिसने भुला दिया है तुझको,
    उसी को याद क्या करना है,

    जो कल नही आया, आज भी नही आएगा,
    झूठे वादों का ऐतबार क्या करना है,

    ढूंढ लिया है मीत नया उसने,
    अब तेरा प्यार क्या करना है,

    फेर ली है निगाहें तो उसके लिए,
    एक आंसू भी बरबाद क्या करना है,

    नहीं उसे तुझ से प्यार तो छोड़,
    बार बार फ़रियाद क्या करना है।
    तेरे बिन यु रही जिंदगी....जैसे ठहरी हुई इक नदी....यु कटा एक पल....जैसे काटी हो मैनें सदी....
Working...
X